Motherboard क्या होता है। और इसका इस्तेमाल है ?Motherboard kya hota hai in hindi

हम सभी कंप्यूटर या स्मार्टफोन को चलते है। लकिन क्या आप कभी ये सोचा है की स्मार्टफोन और कंप्यूटर या किसी भी इलेक्ट्रॉनिक Devices का main part क्या होता है ? अगर नह पता तो इसे हम Motherboard कहते है। Motherboard को Mother ऑफ़ इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस कहना गलत नहीं होगा।

motherboard hinditeller what is motherboard

मदरबोर्ड में किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का महवपूर्ण उपकरण जुड़ा रहता है। आप किसी भी डिवाइस को बिना मदरबोर्ड के नहीं इस्तेमाल कर सकते है।
अगर आप भी जानना चाहते है की मदरबोर्ड क्या है ? इसका क्या इस्तेमाल है तो आपको ये पूरा लेख पढ़ना होगा।

मदरबोर्ड क्या है ?What is Motherboard in hindi

मदरबोर्ड को logical board भी कहा जाता है।मदरबोर्ड को logical board भी कहा जाता है। Logical Board हमें आमतौर पे Mobile Devices में देखने को मिलता है।

मदरबोर्ड खुद में एक काफी महत्वपूर्ण और विशाल वस्तु है जो खुद दूसरे बड़े जो कंप्यूटर में इस्तेमाल होते है उनको एक साथ जोड़े रखता है।

यह किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह सभी महत्वपूर्ण उपकरण को एक दूसरे के साथ जोड़े रखने का काम करता है।आप दिए गए image में साफ़ साफ़ देख सकते है की एक हरे रंग के प्लास्टिक के ऊपर कितने सारे छोटे छोटे Circuits लगे हुए है।

RAM,HARD DISK DRIVE, USB PORTS ,BIOS,MOUSE,KEYBOARD,MONITOR यह सभी उपकरण मोठेर्बोर्ड से किसी port के जरिये जुड़े रहते है ताकि हम जो इनपुट कंप्यूटर में दे उसका आउटपुट हमें मिल सके।

मदरबोर्ड का अविष्कार कब किया गया था ?

सबसे पहले मदरबोर्ड का अविष्कार IBM ने 1985 में किया था।

कितने प्रकार के मदरबोर्ड होते है ?

अलग अलग आवश्कताओ के हिसाब से मदरबोर्ड के भी अलग अलग प्रकार होते है।

अगर आप खुद का कंप्यूटर बना रहे है जिसमे आप अच्छे से काम कर सके तो आपको एक अच्छे मदरबोर्डका चुनाव करना भी बहुत जरुरी है।


जैसे की अगर आपको गेमिंग ,वीडियो एडिटिंग ,साउंड एडिटिंग या कोई सा भी काम हो उसमे एक अच्छे मदरबोर्ड का होना बहुत ही जरुरी है।

1.AT मदरबोर्ड

यह एक ऐसा मदरबोर्ड है जिसका अविष्कार 1980 के समय में IBM के द्वारा किया गया था। इस मदरबोर्ड का नाम AT मतलब Advance Technology मदरबोर्ड भी होता है।

क्योकि यह आकर में बड़ा होता है। इसकी अगर हम बनावट की बात करे तो आकर में यह 100 मिलीमीटर का होता है।जो की कसी मिनी डेस्कटॉप में फिट होने के काबिल नहीं है।

इस आकर के मदरबोर्ड अभी के डेस्कटॉप में फिट होने के काबिल नहीं है।अगर बात करे तो इसे हम अभी के नए तकनीक के उपकरण को इस्तेमाल करना संभव नहीं है।

इस मदरबोर्ड में 6 pins और socket का इस्तेमाल होता है। जिसका काम इस तरह के मदरबोर्ड में पावर को पहुंचने का होता है।

यही कारण है की बहुत से users को इसके power को स्थापित करने का कुछ अंदाज़ा नह रहता और काफी मुश्किल भरा काम भी रहता है। जिससे कंप्यूटर के ख़राब होने का भी खतरा रहता है।

इसकी बात करे तो ये mid 80s में इसे बनाया गया था। और इसे काफी समय तक इस्तेमाल भी किया गया था। इसका पेंटियम 2 के सुरु होने के पहले तक इसका उसे किया गया था

2.ATX मदरबोर्ड

यह एक ऐसा मदरबोर्ड है जिसका निर्माण Intel के द्वारा किया।गया था। इसे ATX (Advance Technology Extended ) नाम रखा गया गया था। इसका निर्माण पुराने मदरबोर्ड जो की AT था उसी को सुधार करके किया गया था। ताकि इस्तेमाल करने वाले उपभोक्ताओं को और अच्छा अनुभव मिल सके।

इस मदरबोर्ड की बात करे तो यह AT से थोड़ा अलग और काफी छोटा भी है। ताकि यह आराम से किसी कैबिनेट में फिट हो सके।इसमें कुछ खास बात यह है की इसमें आप इसमें कनेक्टेड पार्ट को बदल भी सकते है।

इस मदरबोर्ड की विशेषताए की बात करे तो इसमें Disk Drive Cable connector क्लोज़र और CPU closer जो की power supply से कनेक्टेड है।
इसमें cooling फैन के भी तकनीक को इस्तेमाल किया गया था। आप जानते ही है मदरबोर्ड में कूलिंग फैन का होना कितना जरुरी है।

इस मदरबोर्ड की बात करे तो यह AT से थोड़ा अलग और काफी छोटा भी है। ताकि यह आराम से किसी कैबिनेट में फिट हो सके।
इसमें कुछ खास बात यह है की इसमें आप इसमें कनेक्टेड पार्ट को बदल भी सकते है।

3.BTX मदरबोर्ड

इसे Balance Technology Extended भी कहा जाता है। इसका निर्माण नई Technolgy के कई सरे समस्याओ को सँभालने के लिए किया गया था।
ताकि नए उपकरण इस्तेमाल करने में जो दिक्कते आ रही थी उसे कम या ख़तम किया जा सके। क्योकि नई अत्याधुनिक technology जो भी आ रही थी उसमे काफी जायदा power की आवश्यकता थी और वो काफी मात्रा में heat भी उत्पन्न कर रहे थे।

Motherboard में कितने प्रकर के उपकरण लगे होते है ?

  • RAM Slot
  • Processor Chip
  • CMOS Battery
  • USB port
  • IDE controller
  • Power supply socket
  • Parallel port
  • External Dedicated Ports

RAM Slots- रैंडम-एक्सेस मेमोरी (रैम) वर्तमान में सीपीयू द्वारा उपयोग किए जा रहे कार्यक्रमों और डेटा को स्टोर करता है।

रैम को बाइट्स नामक इकाइयों में मापा जाता है।

रैम को कई अलग-अलग तरीकों से पैक किया गया है।

सबसे मौजूदा पैकेज को 168-पिन डीआईएमएम (दोहरी इनलाइन मेमोरी मॉड्यूल) कहा जाता है।

CPU- Center Processing Unit जिसे माइक्रोप्रोसेसर भी कहा जाता है, एक पीसी के अंदर होने वाली सभी गणना करता है।

CPU आकार और आकारों की विविधता में आते हैं।
आधुनिक CPU बहुत अधिक गर्मी उत्पन्न करते हैं। और इस प्रकार एक cooling फैन या गर्मी सिंक की आवश्यकता होती है। कूलिंग डिवाइस (जैसे कि कूलिंग फैन) हटाने योग्य है, हालांकि कुछ सीपीयू सीपीयू को स्थायी रूप से कूलिंग फैन के साथ बेचते हैं।

CMOS Battery- जब कंप्यूटर बंद हो जाता है तो पावर के साथ CMOS प्रदान करने के लिए सभी मदरबोर्ड बैटरी के साथ आते हैं। ये बैटरी तीन तरीकों में से एक में मदरबोर्ड पर चलती हैं:

1 ). Built-in battery 2). The obsolete external battery 3). common onboard battery

USB port- आप कई अलग-अलग उपकरणों के यूएसबी संस्करण पा सकते हैं।
जैसे कि Mouse , कीबोर्ड, स्कैनर, कैमरा और यहां तक ​​कि प्रिंटर भी। USB कनेक्टर का विशिष्ट आयताकार आकार इसे आसानी से पहचानने योग्य बनाता है।

IDE controller- EIDE ड्राइव 2-इंच चौड़ी, 40-पिन रिबन केबल के माध्यम से हार्ड ड्राइव से जुड़ती है, जो बदले में मदरबोर्ड से जुड़ती है। IDE controlle हार्ड ड्राइव को नियंत्रित करने के लिए जिम्मेदार है।

Power supply socket- बिजली की आपूर्ति, जैसा कि इसके नाम से पता चलता है, पीसी को संचालित करने के लिए आवश्यक विद्युत शक्ति प्रदान करता है। बिजली की आपूर्ति मानक 110-वी एसी बिजली लेती है और 12-वोल्ट, 5-वोल्ट और 3.3-वोल्ट डीसी बिजली में परिवर्तित हो जाती है।

Parallel port-अधिकांश Printer एक विशेष Connector का उपयोग करते हैं जिसे Parallel port कहा जाता है। Parallel port सीरियल पोर्ट के विपरीत एक से अधिक वायर पर डेटा ले जाता है, जो केवल एक तार का उपयोग करता है।समानांतर पोर्ट सीधे मदरबोर्ड द्वारा सीधे कनेक्शन के माध्यम से या एक लटकन के माध्यम से समर्थित होते हैं। Parallel port 25-पिन महिला DB कनेक्टर का उपयोग करते हैं।

External Dedicated Ports-जैसा की आपने देखा होगा एक monitor को इस्तेमाल करने के लिए हम HDMI cable जरुरी होता है। वैसे में HDMI पोर्ट का होना बहुत ही जरुरी है। और भी काम जैसे की earphone इस्तेमाल करने के लिए 3.5mm jack,मॉनिटर के लिए VGA पोर्ट होना भी जरुरी है।

कौन कौन से कारणों से मदरबोर्ड ख़राब हो सकता है ?

  • Physical Reason-किसी से गिरना ,फेकना या उसे अपने लातो से मारने से मदरबोर्ड को नुकसान पहुंच सकता है।
  • Natural Reason- अत्यधिक गर्मी जैस कोई ऐसा Heavy काम कर रहे है जिससे मदरबोर्ड गरम हो चूका है। उससे उसे नुकसान पहुंच सकता है। इस्सलिये cooling फैन होना अति आवश्यक है। किसी प्रकार से गंदगी पहुंचना उससे भी उसे नुकसान पहुंच सकता है।
  • Electrical Reason – जायदा volatage जिससे ओवरलोड होने का खतरा हो वो motherboard के लिए नुकसान दायक हो सकता है।सही से motherboard को बिजली ना मिलना भी उसके लिए नुकसान दायक हो सकता है।

अगर आप इन चीजों का ध्यान रखते है तो आप अपने मदरबोर्ड को खरब होने से बचा सकते है।क्योकि आपके कंप्यूटर का सही से काम करने के लिए motherboard का सही से काम करना बहुत जरुरी है।

सारांश

आज आपने इस आर्टिकल में सीखा की Motherboard क्या है ?और उसका काम काम क्या है। हमे उम्मीद है की आपको इस आर्टिकल से कुछ सिखने को जरूर मिलेगा होगा। आपका अगर कुछ सुझाव है तो आप हमे Comment करके बता सकते है।

Leave a Comment