Starlink Internet क्या है ? Starlink internet kya hai in hindi

स्टारलिंक internet क्या है ? आप इंटरनेट तो इस्तेमाल करते ही होंगे। लकिन क्या आप ने कभी ये सोचा है की बिना mobile network के अगर हम चाहे internet इस्तेमाल करना तो कैसे करेंगे। Starlink Internet की मदद से यह संभव है।

स्टरलिंक इंटरनेट एक Spacex का ही प्रोजेक्ट है। Spacex की बात करे तो यह Elon Musk की Company है। जिसका काम राकेट बनाना है और स्पेस में भेजने का है।

starlink internet network

Spacex Earth के निचले orbit में 12000 से भी अधिक Satellite भेजेगा ताकि उसकी मदद से दुनिया के हर कोने में सस्ता और तेज़ internet पंहुचा सके।


अगर आप भी जानना चाहते है की Starlink internet क्या है तो इसकी पूरी जानकारी आपको हमारे ये लेख में मिलेगा।

स्टरलिंक internet क्या है (पूरी जानकारी) ? Starlink kya hai in hindi

स्टरलिंक spacex का एक महत्वाकांक्षी परियोजना है।

जिसकी मदद से वह दुनिया के हर कोने में हाई स्पीड इंटरनेट पहुंचना उसका लक्ष्य है।

यह एक ऐसा परियोजना है जिसमे sapcex 10000 से भी जायदा satellite Earth के निचले orbit में छोड़ेगा जिससे दुनिया के हर कोने इंटरनेट पहुंचना आसान हो जायेगा।

Spacex की सैटेलाइट पृथ्वी के ऑर्बिट के चारों ओर एक तरह का जाल बना देंगे – जिससे आपको दुनिया में कहीं से भी हाई स्पीड इंटरनेट मिलेगा ।

आप भी जानते हो अभी भी दुनिया के कई ऐसे हिस्से है जहा high speed इंटरनेट की सुविधा नहीं है।

बहुत कम जनसंख्या वाले क्षेत्रों के लिए – यह कुल गेम-चेंजर है।

यहां तक ​​कि दूर के द्वीपों में भी जल्द ही दुनिया के सर्वश्रेष्ठ देशों के लिए इंटरनेट का उपयोग होगा।
वैसे में इसकी मदद से इंटरनेट पहुंचना आसान हो जायेगा और हर कोई इसे उसे कर पायेगा। Starlink का दावा है की इसकी मदद से वह 50Mbps से ले कर
950mbps तक के स्पीड को मुहैया करवाएगा।

अभी इसका Beta testing चल रहा है जिसमे जो उपभोगता है उन द्वारा 150mbps तक की स्पीड को देखा गया है।

स्टरलिंक का यह भी दवा है की जैसे जैसे जायदा से जायदा satellite की संख्या में इजाफा होगा।

वैसे स्पीड भी अपने आप बढ़ जायेगा।

hinditeller elon musk tweet starlink,starlink tweet

यह एक तस्वीर है जिसे 12/05/19 को एलोन मस्क ने ट्वीट किया था

इन उपग्रहों का वजन लगभग 500 पाउंड (227 किलोग्राम) है और कुल मिलाकर 60 एक शॉट में लॉन्च होंगे, जो लगभग 18.5 टन का होता है!

Starlink Internet के मालिक कौन है ?

स्टारलिंक के मालिक का नाम Elon Musk है। जिसने रियल-लाइफ ironman भी कहते है।

यह ऐसे ऐसे काम कर रहे जो सोचने में भी मुश्किल लगता है।

यह अपने कामो से दुनिया में चेंज लाना चाहते है और धरती के लिए कुछ करने और उसे अलग बनाने का जज्बा भी रखते है।

Starlink Internet काम कैसे करता है ?

Spacex हजारो की संख्या में earth के लोअर orbit में सॅटॅलाइट को भजेगा।

रेडियो या लेज़र बीम की मदद से एक सॅटॅलाइट दूरसे से कनेक्टेड रहेगा।

Starlink receiver कैसा होता है


उपभोक्ता के पास एक रेसिएवेर रहेगा जो satellite से कनेक्टेड रहेगा।

उसका काम डाटा को ट्रांसमिट करना रहेगा।

अभी कुल मिलकर 900 से 2000 सैटेलाइट को भेजा गया है।

अगले 10 सालो में इसकी संख्या बढ़कर 12000 से भी जायदा होने की संभावना है।

जो की एक बहुत बड़ी बात है।

Starlink हम कैसे इस्तेमाल कर सकते है ?

अभी की बात करे तो Starlink Internet का अभी Beta Testing चल रहा है।

जिसमे कंस्यूमर के द्वारा 50 से 150Mbps तक का स्पीड देखा गया है।

इसके लिए user को रजिस्ट्रेशन करना पर रहा है। और उसके बाद स्टरलिंक उसे router और reciever मुहैया करा रहा है।

जिसे यूजर खुद अपने घर के छत पे या घर के बालकनी या जमींन पे भी लगा कर इस्तेमाल कर सकते है।

फिर स्टरलिंक एप्लीकेशन application की मदद से उसे इनस्टॉल कर।

आने वाले समय में स्टारलिंक का दावा है की जैसे जैसे सॅटॅलाइट की संख्या में बढ़ौतरी होगी।

इसकी स्पीड में इजाफा देखने को मिलेगा।

स्टरलिंक के फायदे क्या है ?

  • इसका इस्तेमाल कोई भी कही भी कर सकता है।
  • इसकी मदद से ऐसे देशो में इंटरनेट मुहैया कराया जायेगा जहा इंटरनेट सही से पंहुचा नहीं है।
  • इसमें optical फाइबर को दूर दूर से लेन ले जाने की कोई समस्या नहीं रहेगा।
  • अगर आपका बिज़नेस शहर से काफी दूर है और आपको तेज़ इंटरनेट चाहिए तो आपके लिए यह काफी सही है।
  • यह पहाड़ी छेत्रों के लिए बहुत सही है।

स्टरलिंक के खामिया क्या है ?

  • यह आम ब्रॉडबैंड इंटरनेट के मामले में काफी महंगा है। इसमें हर कोई पैसा खरच करना नहीं चाहेगा।
  • सबसे बड़ी कही यह है स्टारलिंक एक तय समय में एक छेत्र में निर्धारित Satellite ही प्रदान करेगा। और उपभोक्ता को उसे सभी जो उन छेत्रो में है उनके साथ इस्तेमाल करना होगा। जिससे इंटरनेट के स्पीड में कमी आ सकती है।
  • इसके उपकरण जो स्टरलिंक मुहैया करवाएगा इसका इंस्टालेशन उपभोक्ता को खुद करना होगा। जो की एक समस्या की बात है।
  • इसके उपकरण जो की जो की रिसीवर है उसे खुले आसमान में रखना होगा। अगर आप ऐसे कोई जगह पे रहते है झा बिल्डिंग बहुत है या आसमान खुला नही है तो आपको कठिनाइयों का सामना करना पर सकता है।

स्टारलिंक को इस्तेमाल करने का खर्च कितना आएगा ?

अभी की बात करे तो USA में इसको install करवाने का खर्च लगभग 35000 रुपए का है।

भारत में स्टरलिंक कब आएगा ?

हमारे भारत देश की बात करे तो स्टरलिंक ने अपना रजिस्ट्रेशन भारतीय उफभोक्ता के लिए चालू कर दिया है।

starlink India cost

या लगभग 99$ कुलमिला कर 7300 भारतीय रुपया है।

आप इसका रजिस्ट्रेशन स्टरलिंक के वेबसाइट पे जा के कर सकते है।

स्टरलिंक इंटरनेट की speed कितनी है ?

यह अभी 50Mbps से लेकर 150Mbps तक speed मुहैया करवा रहा है ।

सारांश

आज हमने जाना की स्टरलिंक क्या हिअ और यह काम करता है ?
अगर आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजियेगा।

Leave a Comment